सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

5 ways to manage stress in life /Tension free life in hindi

m  g
for success,tension in hindi,tension free rahne ke liye kya kare,tension free rahne ke upay,Tanav kam karne ke upay aur tarikeTips for stress relief tension free life in hindi,chinta se mukt,stress free life,How to Live a Stress Free Life in hindi,Amazing tips to have stress free life,stress management artical,Stress Free Life Tips in Hindi,how to relax mind from stress in hindi


 Stress management ( what is stress)

आज कल stress हमारे जीवन में एक आम बात हो गई है। छोटे से छोटा बच्चे  लेकर बूढ़े इंसान तक आज कल stress में रहते है। अजीब बात ये है की stress हमारे जीवन में कब आता है ये हमें पता भी नहीं चलता, और धीरे धीरे हम stress के गुलाम हो जाते है, और हालत यहाँ तक पहोच  हमारे पास सबकुछ हो कर भी कुछ भी नहीं होने का अहेसास हमें होता है। धीरे धीरे हम अकेले हो जाते है। 

How to live a stress free life?/how to manage stress in life  (तनावमुक्त जीवन कैसे जिया जाए?)


सबसे पहले हमें ये try करना होगा की हम स्ट्रेस से हम दूर रहे, stress free life जिये , लेकिन  digital word और fast food word में ये tension free life  मुमकिन ना हो, तो आज बहुत ही जरुरी है stress को मैनेज करना। जिससे हमारा कम से कम damage हो। हम अपनी लाइफ सुकून  से जी पाए।  

लेकिन अब सवाल ये उठता है की life competition के इस युग में tension free life (stress management technique) कैसे जिए ? 

How to live tension free life? (टेंशन फ्री कैसे जिये?)

दोस्तों आज के युग में tension free  या stress free जीना मुश्किल जरूर है मगर नामुमकिन नहीं है।  छोटी कुछ चीज़े  ध्यान में रखे तो हम आसानीसे stress free life जी  सकते है। और जीवन में सफलता की और कदम बढ़ा सकते है। ( A step towards achieving success)

Tips for stress/tension free life.


1.आज में खुश  रहिये  (happy in present)

आज के इस fast युगमे हम सबसे ज्यादा चिंतित आने वाले कल के लिए  होते है। कल की तैयारी के चक्कर में हम आज को इग्नोर कर देते है, और नतीजा ये होता है की हम कभी खुश नहीं हो पाते। यही बजह है आज सबसे ज्यादा आत्महत्या के मामले सामने आते है। 

आज हमें जो हमारे पास अभी है इसीमे खुशीसे जीना होगा। ये हमें हमारे बच्चो को भी सिखाना होगा। याद रहे आपका नियंत्रण केवल (present) आज पर है। Past या future पर नहीं। इसलिए जो बित गया उसको भूल कर और आने वाले कल की चिंता न कर के, केवल आज पर focuse करे। 

आज पर फोकस करने से work stress भी नहीं बढ़ेगा और और अपना कार्य सही तरीके से (right work )  पाएंगे। 

2. Eat healthy and so yoga,exercises and meditation ( How to deal stress at home)

tension in hindi,tension free rahne ke liye kya kare,tension free rahne ke upay,Tanav kam karne ke upay aur tarikeTips for stress relief tension free life in hindi,chinta se mukt,stress free life,How to Live a Stress Free Life in hindi,Amazing tips to have stress free life,stress management artical,Stress Free Life Tips in Hindi


हमारे  आयुर्वेद और हमारे ग्रंथो में खाने exercies का direct connection हमारे मन के साथ जोड़ा गया है। उसके अनेक प्रमाण भी दिए गए है। मगर हमने उन सबको ignor कर के है हस के उड़ाके stress को हमारे जीवन का एक ऐसा life partner बना दिया है की, न चाहते हुए भी हमें उनके साथ रहना पड़ता है।

एक healthy body में ही एक healthy mind रहता है। और healthy mind में कभी stress या tension नहीं आता। यदि आ भी गया तो उसे easily stress manage करना भी अता है। healthy food के साथ साथ yoga and exercises is also best stress management activities.

एक research केअनुसार हमें दिन में कम से कम half an hour exercises या yogaकरने से  आपकी mental health बहोत ही अच्छे रहती है और आप mental stress को बहोत ही आसानी से काबू में ला सकते है। 

3. be happy/keep smiling and laughing  

हमें हमेशा ये  याद रखना है की हमरी ख़ुशी हमारे हाथ में है। हम ही अपने आप को खुश या अपने आप को सबसे ज्यादा दुखी कर सकते है। इसलिए हर परीस्थिमे खुश रहना सीखिए। 

उसके लिए सबसे सरल तरीका है वो ही कर जो आपको सबसे ज्यादा पसंद है। do your favorite work . 
 वो काम करे जिससे हमको ख़ुशी (happyness) मिलें। हमारा problem  ये है की हम दुसरोको खुश करने में अपनी सरे energy vest कर देते है। और नतीजा ये होता है की न हम खुश रह पते है और न ही दूसरे। 

इसलिए मुस्कुराना सीखे। face पे हमेशा smile रखे। एक research के अनुसार यदि आप स्माइल करते है तो बॉडी को एक अच्छा message जाता है और काफी हद तक आप अच्छा महसूस करते है। इसलिए बिना बजह मुस्कुराए। 

talk to your friends or close people. ऐसे लोगो के साथ रहिये जो आपको खुश रखते हो। दिनमे काम से काम एक बार ऐसे लोगों से बात करिये जो आप को ख़ुशी देते हो। share your felling. ऐसा  करने हमको  एक social support मिलता है। और हम stress free रहते है। 

read good book. हमारे यहाँ कहा जाता है की अच्छी book हमारा best friend  है। हमारी reading habit हमको कई  probleams में से बहार लाने में मदद करती है। इसलिए हमें और हमारे बच्चो को अच्छे book पढ़ने की aadat  डालनी चाहिए। 

listen  your favorite music. it's help to manage stress in life. हम जब भी कोई अपना मनपसंद music या song सुनते है तो हमारा body  जुमने  लगता है। और हम बहोत ही अच्छा महसूस करते है। इसलिए  tension आये तो हमें music सुनना चाहिए। music सुनने से हम कुछ क्षण तक अपने probleams भूल जायेंगे और हमारा mind fresh हो जायेगा। और एक fresh mind से हम कोई भी probleam solve कर सकते है। 

4 positive self talk 

हमें कम से कम दिन में एक बार तो अपने आप से बात करनी ही चाहिए मगर, वो बाते  positive होनी  चाहिए। कई लोग होते है जो अपने आपको कोसते ही रहते है। ऐसे positive word का use करे जो आपको motivate करे और जिससे आप tension free रहे। जैसे की,

1. I am the best.                        ( मै सब से best हु)
2. god is always with me .        (भगवान हमेशा मेरे साथ है। )
3. I can do anything.                ( मैं कुछ  भी कर सकता हु। )
4. I am feeling  so happy.          (  मैं बहुत खुश हु। )

ऐसा  करने से हम  आसानी stress manage  (easily coping with stress) कर सकते है।

इसलिए always think positive about your self.  हमारे बारे में अच्छा सोचने से हमारे अंदर एक positive thinking आती है और positive thinking से positive energy मिलती है। जैसी हमारी सोच होगी वैसा ही हमारा जीवन भी होगा इसलिए, always think good and positive.   

5. be spiritual and do preyar 

चाहे कोई भी धर्म हो सभी यही सिखाते है की आपको भगवन पर भरोसा और prayer करो। यही दो चीज़े करने पर ज्यादा presser देते है। उसका कारन ये है की spiritual person कभी अपनी लाइफ में mental stress या tension  का शिकार नहीं होता।  उसको अपने भगवान में सबसे ज्यादा भरोसा होता है। उसे पता होता है की भगवान उसकी हमेशा रक्षा करेंगे। यही power of faith उसका self confidence बढाती है। 

रोज़ एक आदत डालो के सोने से पहले एक little prayer जरूर करे। ऐसा करने से हमारी  life के बड़े बड़े probleam बहुत ही आसानी से solve हो जायेंगे की हमें पता तक नहीं  चलेगा। 

 तो ये कुछ simple stress management techniques है। जिसकी मददसे हम अपनी लाइफ के कुछ problem solve कर सकते है। 

तनाव मुकत जीवन हर एक का सपना होता है। और ऐसा जीवन जीना हमारा अधिकार भी है। 
इसलिए जीवन को एक जंग  समझकर ख़ुशी से जिए। क्योकि जीवन केवल एक ही है। 
इसलिए हर परिस्थिति में जीना सीखे। 
 












टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Yeh Rishta Kya Kehlata Hai / रिश्ता किसे कहते हैं ?

  रिश्ता किसे कहते हैं ?/rishta kise kahate hain. rishte ehsas ke hote hain दोस्तों, आज कल 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' फेम दिव्या भटनागर बहुत चर्चा में है। उसकी मौत तो covid 19 के कारन हुई है।  लेकिन उसके परिवार और friends के द्वारा उसके पति पर उनकी मौत का इल्जाम लगाया जा रहा है। ( हम यहाँ किसी पर भी आरोप नहीं लगाते, ये एक जांच का विषय है। )  ऐसा ही कुछ सुंशांत सिंह राजपूत के मौत के वक्त भी हुआ था। उनके मृत्यु के बाद उनके परिवार और friends ने भी ऐसे ही किसी पर आरोप लगाया था। उनकी मौत का जिम्मेदार माना था।  इनकी स्टोरी सच है या क्या जूठ ये हम नहीं जानते, न ही हम उसके बारे में कोई discussion करेंगे।  मगर ये सुनने के बाद एक विचार मेरे मन में ये सवाल उठा की ये हो-हल्ला उनकी मौत के बाद ही क्यू ? उनसे पहले क्यों नहीं? अब ऐसा तो नहीं हो सकता की उनके रिश्तेदारों को इस चीज़ के बारे में बिलकुल पता ही न हो?  ये बात केवल दिव्या भटनागर या सुशांत सिंह राजपूत की ही नहीं है। ये दोनों की story तो इसलिए चर्चा में है, क्योकि ये दोनों काफ़ी successful हस्तिया थी।  मगर हमने अपने आसपास और समाज में भी ऐ

5 Tips Life me Khush Kaise Rahe In Hindi

   life me khush rehne ke tarike/ happy life tips in hindi दोस्तों, जब से ये दुनिया बनी है तब से आदमी की एक ही इच्छा रही है के वे अपने जीवन में हमेश खुश रहे। चाहे वो पाषाण युग हो या आजका 21st century हो। हमारा हर अविष्कार इसी सोच से जन्मा है। चमच्च से ले कर रॉकेट तक हमने इसीलिए बनाये है ताकि हम अपने जीवन में खुश रहे।  आज 21st century में तो हमारे जीवन को आसान और खुश रखने के लिए  gadgets की तो मानो बाढ़ सी आ गयी है। चाहे घर का काम हो या ऑफिस का चुटकि बजा कर हो जाता है। घर बैठे मिलो दूर अपने अपनों से न केवल बात कर सकते है मगर उसको देख भी सकते है।  आज internet ने अपना साम्राज्य इस कदर फैलाया है की, दुनिया के किसी भी कोने में क्या हो रहा है वो आप दुनिया के किसी भी कोने में बेठ कर देख सकते है। आज से पहले इतनी सुविधा कभी पहले नहीं थी। हर बात में आज का युग advance है।  शायद ही ऐसा कोई मोर्चा हो जहा पर हम ने तरक्की न करी हो। पर अब सवाल ये उठता है की इतनी तरक्की करने के बाद क्या हमने वो हासिल किया है जिसके लिए हमने इतनी तरक्की करी है? आज हमारे पास सबसे बढ़िया गाड़ी है, घर है, कपडे है, घडी है, जुते

kya bacho ko mobile dena chahiye?

  क्या बच्चो के लिए खतरनाक है मोबाइल? दोस्तों, क्या बच्चो को मोबाइल देना चाहिए? ये सवाल आज के युग का एक बहोत ही बड़ा सवाल है। हर माँ बाप को ये सवाल सताता है की क्या हमें अपने बच्चो को मोबाइल देना चाहिए या नहीं ? इस पर एक लम्बी चौड़ी कभी न ख़तम होने वाली बहेस होती है और होती रहेगी। लेकिन यहाँ कुछ point पर ध्यान देना भी बहुत ही जरुरी है।  सबसे बड़ा सवाल ये है की बच्चो को मोबाइल की क्या जरुरत है? मोबाइल का उपयोग हम आमतौर पर किसी से बाते करने में, अपने ऑफिस वर्क के लिए या लोकशन सर्च के लिए होता है। ये सारे ज़रूरी काम है जो बिना मोबाइल के नहीं हो सकता राइट? तो अब सवाल ये उठता है की बच्चो को मोबाइल क्यों जरुरी है? बच्चो को नहीं किसी से जरुरी बात करनी होती है, और न ही ऐसा कोई काम जो बिना मोबाइल के पूरा न होता हो। बाहर वो हमारे साथ जाता है। पूरा दिन वो स्कूल या collage में अपने friends के साथ  होता है, और यदि  कुछ काम हो तो वो हमारा फ़ोन use कर सकता है। मुझे नहीं लगता की ऐसा कोई एक कारन हो,  जिसकी बजह से हमें अपने बच्चो को उनका खुद का मोबाइल खरीदकर देना पड़े।   दोस्तों, हम अपने बच्चो को मोबाइल क्यों